इस्‍लाम का उदय और प्रसार : Rise and Expansion of Islam In Hindi

0
3061

आज हम आपको Notes In Hindi Series में History के One Liner Notes लेकर आये हैं, इस पोस्ट में Islam Ka Uday Aur Prasar के बारे में बताया गया है |

इस्‍लाम का उदय और प्रसार : Rise and Expansion of Islam In Hindi

  • एशिया के तीन प्रमुख प्रायद्वीपों में अरब प्रायद्वीप (Arbian peninsula) भी एक है।
  • 7वीं शताब्‍दी में पश्चिमी-अरब व्‍यापारिक मार्ग पर “काफिलों का एक शहर” मक्‍का उचित हुआ।
  • 7वीं शताब्‍दी में मक्‍का पर कुरैश  नामक जनजाति का वर्चस्‍व था।
  • 570 ई० में मक्‍का के कुरैश बानू हाशिम वंश में ‘इस्‍लाम’ के संस्‍थापक हजरत मुहम्‍मद का जन्‍म हुआ।
  • अब्‍दुल्‍ला एवं अमीना क्रमश: हजरत मुहम्‍मद के पिता एवं माता का नाम था।
  • हजरत मुहम्‍मद का विवाह खदीजा नामक विधवा से हुआ।
  • हजरत मुहम्‍मद एकेश्‍वरवाद की ओर आकृष्‍ट हुए।
  • हजरत मुहम्‍मद को 610 ई० में ‘मक्‍का’ के पास हिरा नामक गुफा में ज्ञान प्राप्‍त हुआ।
  • देवदूत गैब्रियल ने स्‍वप्‍न में उन्‍हें इलहाम (ईश्‍वरीय ज्ञान) प्रदान किया।
  • इस्‍लामी परंपराओं में इसे रहस्‍य को उद्घाटित करने वाला पहला संबोधन कहा जाता है।
  • हजरत मुहम्‍मद ने इसके साथ ही स्‍वयं को ‘अल्‍लाह’ का पैगत्‍बर (दूत) घोषित किया।
  • इस्‍लाम के ज्ञान का प्रमुख स्‍त्रोत कुरान एवं हदीस है, इन्‍हीं में पैंगम्‍बर की उक्तियाँ सं‍कलित हैं।
  • कुरेशियों के घोर विरोध के कारण हजरत मुहम्‍मद को ‘मक्‍का’ छोड़कर मदीना में शरण लेनी पड़ी।
  • इस्‍लामिक परंपरा में 622 ई० में घटित उपर्युक्‍त घटनरा से हिजरी संवत् की शुरूआत होती है।
  • मदीना के लोग इस्‍लाम के अनुयायी बन गये।
  • इस्‍लामी मान्‍यताओं के अनुसार देवदूत गैब्रियल ने मौखिम रूप से अरबी भाषा में हजरत मुहम्‍मद को कुरान संप्रेषित की।
  • इस्‍लाम के अनुसार अल्‍लाह (ईश्‍वर) एक है एवं मुहम्‍मद उनके पैगम्‍बर।
  • इस्‍लाम की सबसे बड़ी विशेषता यही है कि यह अन्‍य धर्मों के मुकाबले अधिक लोकतान्त्रिक (Democratic)  है तथा इसमें भाई-चारे  पर अत्‍यधिक बल दिया गया है।

महत्‍वपूर्ण तथ्‍य– इस्‍लाम के अभ्‍युदय के पूर्व अरब में बहुदेववाद पर आधारित धर्म प्रचलित था। अल्‍लाह यद्यपि उनके प्रधान देवता थे, परन्‍तु वे लगभग 400 देवी-देवताओं की पूजा करते थे। अरब के लोग धर्म के वास्‍तविक उद्देश्‍य एवं अर्थ के समझने में सर्वथा असमर्थ थे।

  • हजरत मुहम्‍मद की मृत्‍यु 632 ई० में हुई, उन्‍हें मदीना में दफनाया गया।
  • थोड़े समय में ही इस्‍लाम का प्रसार उत्‍तरी अफ्रीका, आईबेरिया प्रायद्वीप, ईरान एवं भारत तक हो गया।

अपना जवाब लिखें

Please enter your comment!
यहाँ अपना नाम डाले !